स्वास्थ्य

Showing all 6 results

Show Grid/List of >5/50/All>>
  • इकिगाई

    इकिगाई

    350.00
    Add to cart

    इकिगाई

    लम्बे और खुशहाल जीवन
    का जापानी रहस्य
    हेक्टर गार्सिया और फ़्रान्सेस्क मिरालेस

    इकिगाई के बारे में अंतरराष्ट्रीय बेस्टसेलिंग गाइड से जानें
    दीर्घायु होने और खुशहाल जीवन जीने का जापानी रहस्य

    जापान के लोग विश्वास करते हैं कि इकिगाई हर एक के भीतर छिपा होता है – यह हर सुबह नींद से जागने की वजह होती है। प्रेरणा और सांत्वना देने वाली यह पुस्तक आपको अपना व्यक्तिगत इकिगाई खोजने में मदद के लिए जीवन में परिवर्तन लाने वाले साधन उपलब्ध कराएगी। यह आपको दिखलाएगी कि कैसे अनावश्यक भार को पीछे छोड़कर अपना उद्देश्य हासिल किया जाए, मित्रता को विकसित किया जाए और स्वंय को अपने जुनून के लिए समर्पित किया जाए।

     

    लेखक के बारे में

    हेक्टर गार्सिया जापान के नागरिक हैं, जहाँ कि वह एक दशक से अधिक समय से रह रहे हैं। वह स्पेन के भी नागरिक हैं, जहाँ कि उनका जन्म हुआ था। वह जापानी संस्कृति के बारे में कर्इ पुस्तकों के लेखक हैं जिनमें से दो पुस्तकें – अ गीक इन जापान और इकिगार्इ दुनिया की बेस्टसेलर्स में शुमार हैं। पूर्व में सॉफ़्टवेयर इंजीनियर रहे हेक्टर जापान में बसने से पहले स्विट्ज़रलैंड के सी र्इ आर एन में काम कर चुके हैं।

    फ़्रान्सेस्क मिरालेस बेहतर जीवन कैसे जिएँ विषय पर पुरस्कार प्राप्त अंतरराष्ट्रीय बेस्ट सेलर किताबों के लेखक हैं। साथ ही उन्होंने लव इन स्मॉल लेटर्स और वाबी-साबी उपन्यास भी लिखे हैं। हेक्टर गार्सिया के साथ उनका जापान के ओकिनावा में स्वागत किया गया, जहाँ के निवासी दुनिया की किसी भी अन्य जगह से ज़्यादा लम्बा जीवन जीते हैं। वहाँ उन्हें सौ भी अधिक ग्रामीणों से उनकी लंबी और ख़ुशहाल ज़िंदगी के दर्शन के बारे में साक्षात्कार करने का मौक़ा मिला।

    Ikkigai / Ikigayi

    डीलक्स हार्ड बाउंड एडिशन
    पृष्ठ 194   रु350

    350.00
  • भारतीय संस्कृति और सेक्स – गीतेश शर्मा

    125.00
    Add to cart

    भारतीय संस्कृति और सेक्स – गीतेश शर्मा

    भारतीय संस्कृति और सेक्स
    गीतेश शर्मा

    जहाँ तक ‘हिन्दू संस्कृति’ का प्रश्न है, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के पुरोधाओं ने जिस रूप में इसकी व्याख्या की, पहले भी लिखा जा चुका है कि वह बहुत ही संकुचित और विकृत व्याख्या है, जो लोगों में इस संस्कृति के प्रति एक भ्रम पैदा करती है। जिन विद्वानों ने वास्तविकता पर आधारित तथ्यपरक व्याख्या की, उनको यह कहकर सिरे से ख़ारिज कर दिया गया कि उन पर पश्चिम के विद्वानों का प्रभाव है और वे एकांगी दृष्टि से संस्कृति को देखते हैं। जबकि सच्चाई यह है कि वेदों से प्रारम्भ कर भारतीय संस्कृति का समग्र रूप मनुष्य की समस्त जीवन-शैली के अच्छे-बुरे पक्ष को ज़ाहिर करता है, जो समय के अनुसार बदलती रही है।

    हमारे देश में एक प्रचलन यह भी रहा है कि हम प्राचीन धार्मिक ग्रन्‍थों पर तिलक-चंदन चढ़ाते हैं, उनकी पूजा करते हैं, पर उन्हें पढ़ते नहीं हैं। पढ़ते तो संस्कृति के नाम पर जो दुष्प्रचार किया जाता रहा है, वह सम्भव नहीं था।

    पृष्ठ 104 रु125

    125.00
  • मधुमेह - एक नया जीवनसाथी

    मधुमेह – एक नया जीवनसाथी

    250.00
    Add to cart

    मधुमेह – एक नया जीवनसाथी

    डॉ सुनील एम् जैन

    मधुमेह चिकित्सक डा. सुनील एम. जैन मधुमेह यानी डायबिटीज़ के बारे में हर वह महत्वपूर्ण बात बताते हैं, जो हर व्यक्‍ति को मालूम होनी चाहिए। इसमें बताया गया है कि डायबिटीज़ से कैसे बचा जाए और डायबिटीज़ होने के बाद सामान्य जीवन कैसे जिया जाए।

    MADHUMEH – EK NAYA JEEVANSATHI

    पृष्ठ 196 रु250

    250.00
  • गर्भावस्था

    गर्भावस्था

    225.00
    Add to cart

    गर्भावस्था

    नूतन पंडित

    इस पुस्तक में गर्भावस्था से जुड़े उन सारे सवालों, समस्याओं और सावधानियों का विस्तृत वर्णन है, जिन्हें भारतीय महिलाएँ जानना तो चाहती हैं, लेकिन किसी से पूछने में हिचकिचाती हैं। अमूल्य जानकारी का महत्वपूर्ण स्त्रोत।

    GARBHAVASTHA

    पृष्ठ 228 रु225

    225.00
  • आदर्श स्वास्थ्य क्रांति

    आदर्श स्वास्थ्य क्रांति

    350.00
    Add to cart

    आदर्श स्वास्थ्य क्रांति

    ड्यूक जॉनसन

    जानिए हर्दय रोग, कैंसर, डाइबिटीज़ तथा मोटापे से बचने का तरीक़ा। इस क्रांतिकारी पुस्तक में पूर्णत: स्वस्थ और रोगमुक्त रहने के अचूक उपाय हैं। आधुनिक शोध के लगभग 900 संदर्भ। जो भी अपने स्वास्थ्य की परवाह करता है, उसे यह पुस्तक ज़रूर पढ़नी चाहिए।

    ADARSH SWASTHYA KRANTI

    पृष्ठ 364 रु350

    350.00
  • स्वास्थ्य क्रांति

    स्वास्थ्य क्रांति

    395.00
    Add to cart

    स्वास्थ्य क्रांति

    पॉल ज़ेन पिल्ज़र

    विश्‍व-प्रसिद्ध अर्थशास्त्री और उधमी पाल ज़ेन पिल्ज़र आपको अगले टि्रलियन डालर क्षमता वाले उधोग – स्वास्थ्य – का दोहन करने की राह दिखाते हैं। वे भविष्यवाणी करते हैं कि मौजूदा 200 करोड़ डालर का विटामिन और अन्य स्वास्थ्य संबंधी वस्तुओं की बिक्री का व्यापार, अगले दस सालों में सालाना 1 टि्रलियन डालर से ज़्यादा तक पहुँच जाएगा। वे बताते हैं कि इस स्वास्थ्य क्रांति में उधमी और निवेशक किस प्रकार अपनी किस्मत आज़मा सकते हैं।

    SWASTHYA KRANTI

    पृष्ठ 348   रु395

    395.00