Hindi Atheist Books / हिन्दी पुस्तकें

हिंदी में पढ़ने के लिए अच्छी किताबें ✨ Editors’ Must-Read List | तर्कशील किताबें | तर्कवादी किताबें | नास्तिक किताबें | Rationalist / Atheist Books in Hindi

Showing all 21 results

Show Grid/List of >5/50/All>>
  • स्पष्ट सोचने की कला – रॉल्फ डोबेली

    399.00
    Add to cart Buy now

    स्पष्ट सोचने की कला – रॉल्फ डोबेली

    स्पष्ट सोचने की कला
    रॉल्फ डोबेली

    यह पुस्तक आपकी सोच को समृद्ध करती है। “स्पष्ट रूप से सोचने की कला” लोगों के जीवन में 99 भ्रांतियों की व्याख्या करती है। यह पुस्तक सभी के लिए अत्यंत उपयोगी है। प्रत्येक व्यक्ति, प्रत्येक नियोक्ता, प्रत्येक कर्मचारी, प्रत्येक राजनेता, प्रत्येक सरकारी अधिकारी और प्रत्येक राष्ट्रीय नेता को यह पुस्तक पढ़नी चाहिए। यह आपके जीवन को हमेशा के लिए अच्छे के लिए बदल देगा। यह अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सबसे ज्यादा बिकने वाली किताब का हिंदी अनुवाद है। यह पुस्तक आपको जीवन में अधिक बुद्धिमान और सक्षम बनाएगी।

    The Million Copy International Best Seller

    Deluxe Printing > Pages 184

    399.00
  • Cosmos - Carl Sagan - Hindi Translation

    कास्मोस – कार्ल सैगन (Concise Hindi Edition)

    299.00
    Add to cart Buy now

    कास्मोस – कार्ल सैगन (Concise Hindi Edition)

    कास्मोस
    कार्ल सैगन

    कार्ल सागन की कालजयी उत्कृष्ट पुस्तक, “कॉसमॉस” अब हिंदी में उपलब्ध है! यह स्थान और समय के माध्यम से एक उल्लेखनीय यात्रा है। इस यात्रा की व्यवस्था हमारे युग के श्रद्धेय वैज्ञानिक प्रतिभावान मस्तिष्क ने की है। इस अद्भुत पुस्तक में, सागन ने ब्रह्मांड के आश्चर्यों का स्पष्ट रूप से पता लगाया है – सबसे छोटे उप-परमाणु कणों से लेकर आकाशगंगाओं के विशाल विस्तार तक। यह संस्करण “कॉसमॉस” के सार को एक संक्षिप्त लेकिन गहन पढ़ने के अनुभव में ले जाता है, जो सागन की वैज्ञानिक अंतर्दृष्टि और काव्यात्मक गद्य की हस्ताक्षर शैली को दर्शाता है।

    यह संक्षिप्त संस्करण ब्रह्माण्ड के अस्तित्व के रहस्यों का मनोरम वर्णन करता है। इस कालजयी क्लासिक के साथ ब्रह्मांड की सुंदरता की खोज करें और ब्रह्मांड के बारे में अपनी समझ को गहरा करें। अब यह सुविधाजनक संक्षिप्त संस्करण में उपलब्ध है। दुनिया भर के लाखों पाठकों से जुड़ें, और कार्ल सागन की “कॉसमॉस” की प्रेरक यात्रा का अनुभव करें। (“कॉसमॉस” की 1 अरब से अधिक मुद्रित प्रतियां दुनिया भर में बिक चुकी थीं।)

    The Million Copy International Best Seller

    Concise Edition > Hard Binding > Deluxe Printing > Pages 84

    299.00
  • The Selfish Gene - Richard Dawkins - Hindi Translation

    स्वार्थी जीन – रिचर्ड डॉकिन्स (Concise Hindi Edition)

    299.00
    Add to cart Buy now

    स्वार्थी जीन – रिचर्ड डॉकिन्स (Concise Hindi Edition)

    स्वार्थी जीन
    रिचर्ड डॉकिन्स

    “सेल्फिश जीन” एक प्रेरणादायक और महत्वपूर्ण पुस्तक है जो जीवन के रहस्यमय सिद्धांतों पर प्रकाश डालती है। इस पुस्तक में प्रसिद्ध जीवविज्ञानी रिचर्ड डॉकिन्स ने बड़े ही मनोरम तरीके से बताया है कि जीवों की प्रजातियाँ और व्यवहार उनके जीन के अंतर्निहित स्वार्थ की पुष्टि करते हैं। यह दुनिया की सबसे ज्यादा बिकने वाली किताबों में से एक है। अब आप इस किताब को हिंदी में पढ़ सकते हैं।

    The Million Copy International Best Seller

    Concise Edition > Hard Binding > Deluxe Printing > Pages108

    299.00
  • Sherlock Holmes Complete Book in Hindi

    शर्लक होम्स  संपूर्ण रचनाएँ – आर्थर कॉनन डॉयल (Full Set – Hindi)

    1,999.00
    Add to cart Buy now

    शर्लक होम्स  संपूर्ण रचनाएँ – आर्थर कॉनन डॉयल (Full Set – Hindi)

    शर्लक होम्स  संपूर्ण रचनाएँ
    आर्थर कॉनन डॉयल

    4 उपन्यास , 56 कहानियाँ

    अब आप शेर्लॉक होम्स की उस दुनिया में जा सकते हैं जहां आप पहले कभी नहीं गए – पूरा संग्रह, अब हिंदी में उपलब्ध है पहली बार के लिए।

    हालाँकि होम्स की कुछ साहसिक कहानियाँ पहले भी उपलब्ध थीं, लेकिन पूरा संग्रह अब तक हिंदी में उपलब्ध नहीं था। इसमें एक लंबा समय लगा लेकिन आखिरकार, पूरा साहित्य हिंदी में उपलब्ध है।

    शेर्लॉक होम्स एक ऐसा चरित्र है जिसकी प्रतिभा ने दुनिया भर के पाठकों को प्रेरित किया है, फिर भी हिंदी में उसके साहित्य की अनुपस्थिति को गहराई से महसूस किया गया है। यह प्रकाशन उस अनुपस्थिति को भरने का प्रयास करता है।

    होम्स की अनुमान क्षमताओं ने न केवल पाठकों को रोमांचित किया है बल्कि इसने विश्व स्तर पर पुलिस विभागों को भी प्रेरणा प्रदान की। यह एक समय चीन में पुलिस प्रशिक्षण पाठ्यक्रम का हिस्सा था।

    रहस्यों को सुलझाने के रोमांच से परे, ये कहानियाँ युवा मन में आलोचनात्मक सोच को प्रोत्साहित करती हैं, जिससे ये किसी भी मूल भाषा में पढ़ने के लिए आवश्यक हो जाती हैं।

    इसलिए, यदि आप होम्स को अपनी मातृभाषा में पढ़ना चाहते हैं, तो आपका इंतजार खत्म हो गया है। यह पुस्तक आपके बुकशेल्फ़ में एक पसंदीदा स्थान घेरने वाली है।

    ✔️ Semi hard bound ✔️ Delux printing ✔️ Text book quality inside pages ✔️ Total 6,88,406 words ✔️ Characters count: 25,75,935 

    ISBN 978-81-968941-3-9

    पृष्ठ 1568  ,  रु1999

    1,999.00
  • Prithvi ke Sabase Shanadar Drishy Vismay - Richard Dawkins

    पृथ्वी के सबसे शानदार दृश्य विस्मय – रिचर्ड डॉकिन्स

    499.00
    Add to cart Buy now

    पृथ्वी के सबसे शानदार दृश्य विस्मय – रिचर्ड डॉकिन्स

    पृथ्वी के सबसे शानदार दृश्य विस्मय
    रिचर्ड डॉकिन्स

    “द ग्रेटेस्ट शो ऑन अर्थ” (पृथ्वी के सबसे शानदार दृश्य विस्मय) रिचर्ड डॉकिंस द्वारा लिखी गई एक पुस्तक है जो प्राणी विकास के सिद्धांत पर है। यह बताती है कि कैसे पृथ्वी पर सभी जीव विकसित हुए हैं जिसमें प्राकृतिक चयन नामक एक प्रक्रिया शामिल है। डॉकिंस जानवर और पौधों के उदाहरण उठाकर अपनी बातों का समर्थन करते हुए साक्ष्य प्रदान करते हैं और प्राणी विकास के खिलाफ आम तरीके के तर्कों का विरोध करते हुए साक्ष्य प्रदान करते हैं। समग्र रूप से, पुस्तक प्राणी विकास केवल एक सिद्धांत नहीं है, बल्कि विज्ञानी साक्ष्य की एक विस्तृत मात्रा द्वारा समर्थित एक तथ्य है।

    “प्राणी विकास के अद्भुत रहस्यों को खोजें – पृथ्वी का सबसे बड़ा शो!”
    हिंदी में अंतर्राष्ट्रीय बेस्ट सेलर पुस्तक

    ISBN 978-81-969323-8-1

    पृष्ठ 356   रु499

    499.00
  • Free Website Building - Self Help Book in Hindi

    जीरो रुपए की वेबसाइट

    299.00
    Add to cart Buy now

    जीरो रुपए की वेबसाइट

    जीरो रुपए की वेबसाइट
    हामिद खान

    वेबसाइट बनाई जा सकती है, मुफ्त में

    आज, व्यवसायों, संगठनों, सेवा प्रदाताओं, लेखकों और कलाकारों के लिए एक वेबसाइट होना बहुत महत्वपूर्ण है। बहुत से लोग ऑनलाइन चीजों की खोज करते हैं, इसलिए वेबसाइट होना एक अच्छा विचार है। आप अपने और अपने व्यवसाय के बारे में जानकारी साझा कर सकते हैं, साथ ही ग्राहक समीक्षा, संपर्क जानकारी भी। आप अपना स्थान खोजने के लिए नक्शे भी शामिल कर सकते हैं। लेकिन एक वेबसाइट बनाना महंगा और मुश्किल हो सकता है। आपको सॉफ्टवेयर ज्ञान की आवश्यकता है और पेशेवरों को किराए पर लेना पड़ सकता है, जिसमें बहुत पैसा खर्च होता है। आपको हर साल डोमेन नाम और होस्टिंग शुल्क के लिए भी भुगतान करना होगा। हालांकि, ऑनलाइन सेवाओं का उपयोग करके मुफ्त में एक वेबसाइट बनाना संभव है। यह पुस्तक आपको दिखाती है कि यह कैसे करना है। यह भी बताता है कि आपकी वेबसाइट खोज इंजन परिणामों में कैसे दिखाई दे सकती है।

    आइए, और आइए जानें कि बिना किसी पैसे खर्च किए वेबसाइट कैसे बनाई जाए।

    पृष्ठ 182   रु299


     

    299.00
  • God Delusion in Hindi

    भगवान भ्रम – रिचर्ड डॉकिन्स [हिंदी अनुवाद]

    599.00
    Add to cart Buy now

    भगवान भ्रम – रिचर्ड डॉकिन्स [हिंदी अनुवाद]

    भगवान भ्रम
    रिचर्ड डॉकिन्स

    रिचर्ड डॉकिंस, अंग्रेजी में एक प्रसिद्ध और बेस्टसेलर, ‘द गॉड डिल्यूजन’ नामक एक बेहद लोकप्रिय पुस्तक बन गई है और दुनिया भर की कई भाषाओं में इसका अनुवाद किया गया है। यह पुस्तक ‘द गॉड डिल्यूजन’ का हिंदी अनुवाद है।

    ‘अगर आप जानना चाहते हैं कि मेरा मन क्या है, तो गॉड डिल्यूजन पढ़ें’
    कमल हासन, सुपर स्टार

    ISBN 978-81-968941-7-7

    एक ऐसी किताब जिसने दुनिया भर के लाखों लोगों के दिमाग को प्रभावित और बदल दिया।

    पृष्ठ 412   रु599

    599.00
  • सेपियन्स - मानव जाति का संक्षिप्त इतिहास

    सेपियन्स – मानव जाति का संक्षिप्त इतिहास

    599.00
    Add to cart Buy now

    सेपियन्स – मानव जाति का संक्षिप्त इतिहास

    डॉ युवाल नोआ हरारी

    डॉ. युवाल नोआ हरारी द्वारा लिखित किताब ‘सेपियन्स’ में मानव जाति के संपूर्ण इतिहास को अनूठे परिप्रेक्ष्य में अत्यंत सजीव ढंग से प्रस्तुत किया गया है। यह प्रस्तुतिकरण अपने आप में अद्वितीय है। प्रागैतिहासिक काल से लेकर आधुनिक युग तक मानव जाति के विकास की यात्रा के रोचक तथ्यों को लेखक ने शोध पर आधारित आँकडों के साथ इस तरह शब्दों में पिरोया है कि यह किताब निश्चित रूप से मॉर्डन क्लासिक किताबों की श्रेणी में शुमार होगी।

    करीब 100,000 साल पहले धरती पर मानव की कम से कम छह प्रजातियाँ बसती थीं, लेकिन आज स़िर्फ हम (होमो सेपियन्स) हैं। प्रभुत्व की इस जंग में आख़िर हमारी प्रजाति ने कैसे जीत हासिल की? हमारे भोजन खोजी पूर्वज शहरों और साम्राज्यों की स्थापना के लिए क्यों एकजुट हुए? कैसे हम ईश्वर, राष्ट्रों और मानवाधिकारों में विश्वास करने लगे? कैसे हम दौलत, किताबों और कानून में भरोसा करने लगे? और कैसे हम नौकरशाही, समय-सारणी और उपभोक्तावाद के गुलाम बन गए? आने वाले हज़ार वर्षों में हमारी दुनिया कैसी होगी? इस किताब में इन्हीं रोचक सवालों के जवाब समाहित हैं।

    ‘सेपियन्स’ में डॉ. युवाल नोआ हरारी ने मानव जाति के रहस्यों से भरे इतिहास का विस्तार से वर्णन किया है। इसमें धरती पर विचरण करने वाले पहले इंसानों से लेकर संज्ञानात्मक, कृषि और वैज्ञानिक क्रांतियों की प्रारम्भिक खोजों से लेकर विनाशकारी परिणामों तक को शामिल किया गया है। लेखक ने जीव-विज्ञान, मानवशास्त्र, जीवाश्म विज्ञान और अर्थशास्त्र के गहन ज्ञान के आधार पर इस रहस्य का अन्वेषण किया है कि इतिहास के प्रवाह ने आख़िर कैसे हमारे मानव समाजों, हमारे चारों ओर के प्राणियों और पौधों को आकार दिया है। यही नहीं, इसने हमारे व्यक्तित्व को भी कैसे प्रभावित किया है।

    डॉ युवाल नोआ हरारी
    डॉ युवाल नोआ हरारी के पास ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय से इतिहास में पीएचडी है और अब वे हिब्रू विश्वविद्यालय में विश्व इतिहास के विशेषज्ञ हैं। सेपियन्स : मानव जाति का एक संक्षिप्त इतिहास ने विश्व भर से प्रशंसक हासिल किये हैं, इन में बिल गेट्स, बराक ओबामा और जर्विस कॉकर जैसे नाम शामिल हैं। इसे अब तक 50 से अधिक भाषाओं में प्रकाशित किया जा चुका है। यह संडे टाइम्स में नंबर एक बेस्टसेलर रही और पेपरबैक रूप में नौ महीने से अधिक के लिए शीर्ष दस में थी। ‘द गार्जियन’ द्वारा सेपियन्स को उत्कृष्ट, सबसे अधिक पढ़ने योग्य और इस सदी की सबसे महत्वपूर्ण किताब के रूप में वर्णित किया गया है।
    प्राफेसर हरारी नियमित रूप से अपनी किताबों और लेखों में खोजे गए विषयों पर दुनिया भर में व्याख्यान देते हैं। वे गार्जियन, फाइनेंशियल टाइम्स, द टाइम्स, नेचर पत्रिका और वॉल स्ट्रीट जर्नल जैसे समाचार पत्रों के नियमित रूप से लेख भी लिखते हैं। वह स्वैच्छिक आधार पर विभिन्न संगठनों और दर्शकों को अपना ज्ञान और समय भी प्रदान करते हैं।

    Sapiens  Hindi – Manav Jati Ka Samkshipt Itihas

    डिलीवरी पर नकद / ऑनलाइन पेमेंट  उपलब्ध
    पृष्ठ 454   रु599

    599.00
  • भारत का संविधान - हिंदी और अंग्रेजी संस्करण

    भारत का संविधान – हिंदी और अंग्रेजी संस्करण

    999.00
    Add to cart Buy now

    भारत का संविधान – हिंदी और अंग्रेजी संस्करण

    भारत का संविधान – हिंदी और अंग्रेजी में

    भारत का संविधान अब हिंदी और अंग्रेजी में । अथवा 2020 के 104वें संशोधन तक के नए संशोधनों को भी शामिल किया गया है। यह उन हिंदी पाठकों के लिए प्रस्तुत किया गया हैं जो हमारे संविधान को अपनी मातृभाषा (हिन्दी अथवा अंग्रेजी)में पढ़ना पसंद करते हैं।

    अद्यतन संस्करण, 2020 दिसंबर तक

    Constitution of India In English and Hindi. Updated up to 104th amendments of 2020
    (Print Edition)

     

    पृष्ठ 824   रु999

    999.00
  • जातिप्रथा उन्मूलन और अन्य निबंध - बाबासाहेब अम्बेडकर

    जातिप्रथा उन्मूलन और अन्य निबंध – बाबासाहेब अम्बेडकर

    640.00
    Add to cart Buy now

    जातिप्रथा उन्मूलन और अन्य निबंध – बाबासाहेब अम्बेडकर

    जातिप्रथा उन्मूलन और अन्य निबंध
    बाबासाहेब अम्बेडकर

    कई किताबें है जाति व्यवस्था पे और हम इसे कैसे खत्म कर सकते हैं, इससे संबंधित हैं। लेकिन डॉ अम्बेडकर द्वारा लिखित “जातिप्रथा उन्मूलन” (Annihilation of Caste) आज तक के इस विषय पर सभी पुस्तकों सबसे उत्कृष्ट है। क्योंकि यह व्यवस्थित रूप से दिखाता है कि यह कैसे काम करता है, लोगों को उनका शोषण और अधीन में रखने के लिए के लिए जातियों में जातिप्रथा करते है।  वह हमें स्पष्ट रूप से दिखाते हैं कि सदियों से दुर्व्यवहार और शोषण के शिकार लोगों को मुक्त करने के लिए जाति व्यवस्था को अंत करना होगा।

    यह पुस्तक जाति व्यवस्था और अन्य प्रासंगिक विषयों पर अम्बेडकर के लेखन का एक श्रेष्ठ संग्रह है। जाति-मुक्त भारत के पक्ष में खड़े हर भारतीय को इसे पढ़ना चाहिए, क्योंकि यह बहुत सारी समझ और उपयोगी अंतर्दृष्टि प्रदान करता है।

    Destruction of Caste System  / Jatipradha Unmulan

    पृष्ठ 592   रु640

    640.00
  • भारत का संविधान - हिंदी और अंग्रेजी संस्करण

    भारत का संविधान – हिंदी और अंग्रेजी संस्करण

    999.00
    Add to cart Buy now

    भारत का संविधान – हिंदी और अंग्रेजी संस्करण

    भारत का संविधान – हिंदी और अंग्रेजी में

    भारत का संविधान अब हिंदी और अंग्रेजी में । अथवा 2020 के 104वें संशोधन तक के नए संशोधनों को भी शामिल किया गया है। यह उन हिंदी पाठकों के लिए प्रस्तुत किया गया हैं जो हमारे संविधान को अपनी मातृभाषा (हिन्दी अथवा अंग्रेजी)में पढ़ना पसंद करते हैं।

    अद्यतन संस्करण, 2020 दिसंबर तक

    यह भारत का सर्वोच्च कानून व्यवस्था है। यह बुनियादी राजनीतिक संहिता, संरचना, प्रक्रियाओं, शक्तियों,और सरकारी संस्थानों के कर्तव्य और नागरिकों के मौलिक अधिकारों, निर्देशक सिद्धांतों और कर्तव्यों को निर्धारित करता है।

    केशवानंद भारती बनाम केरल राज्य में, सर्वोच्च न्यायालय ने फैसला सुनाया कि एक संशोधन संविधान की मूल संरचना के साथ छेड़छाड़ नहीं कर सकता है, जो अपरिवर्तनीय है। इस तरह के संशोधन को अमान्य घोषित कर दिया जाएगा।सिद्धांत के अनुसार, संविधान की बुनियादी विशेषताएं (जब “पूरी तरह से पढ़ी जाती हैं”) को संक्षिप्त या समाप्त नहीं किया जा सकता है।

    केशवानंद भारती बनाम केरल राज्य के निर्णय ने संविधान की मूल संरचना निर्धारित की, जो बहुत असाधारण है:

    * संविधान की सर्वोपरिता
    * गणतंत्रवादी, सरकार का लोकतांत्रिक स्वरूप
    * इसकी धर्मनिरपेक्ष प्रकृति
    * अधिकारों का विभाजन

    इसका तात्पर्य यह है कि संसद अपने मूल ढांचे को बदले बिना ही संविधान में संशोधन कर सकती है। न्यायतंत्र समीक्षा के बाद, यदि इसका उल्लंघन किया जाता है, तो सर्वोच्च न्यायालय या उच्च न्यायालय संशोधन को अमान्य घोषित कर सकता है। यह संसदीय सरकारों की खासियत है, जहां न्यायपालिका संसदीय शक्ति की जांच करती है।

    एक सार्वभौम राष्ट्र के लिए भारतीय संविधान दुनिया का सबसे लंबा संविधान है।
    यह उन लोगों को समर्पित जो हमारे संविधान को अपनी मातृभाषा में पढ़ना चाहते हैं।

    [Delux Print Edition]  पृष्ठ 824   रु999

    999.00
  • Bhagat Singh Book - Hindi

    मैं नास्तिक क्याें हूँ – भगतसिंह

    59.00
    Add to cart Buy now

    मैं नास्तिक क्याें हूँ – भगतसिंह

    मैं नास्तिक क्याें हूँ
    और ‘ड्रीमलैण्ड’ की भूमिका

     

    भगतसिंह

     

    ‘मैं नास्तिक क्यों हूँ’ में भगतसिंह ने सृष्टि के विकास और गति की भौतिकवादी समझ पेश करते हुए उसके पीछे किसी मानवेतर ईश्वरीय सत्ता के अस्तित्व की परिकल्पना को वैज्ञानिक ढंग से निराधार सि( किया है। ‘ड्रीमलैण्ड की भूमिका’ में कृति की समीक्षा करते हुए भगतसिंह ने समाज-व्यवस्था, जीवन, क्रान्ति और भावी समाज के बारे में जो विचार प्रस्तुत किये हैं वे उनकी विकसित हो रही वैज्ञानिक भौतिकवादी दृष्टि का पता देते हैं। साथ ही इसमें उन्होंने अपने से पहले के क्रान्तिकारी आन्दोलन और उसकी विचारधारा की जो समीक्षा की है वह इस बात का स्पष्ट
    प्रमाण है कि पुराने क्रान्तिकारी मध्यमवर्गीय आतंकवाद के विचारों से नाता तोड़कर भगतसिंह आगे बढ़ चुके थे।

    आज भी नौजवानों में जो तरह-तरह के प्रतिगामी विचार, अवैज्ञानिक दृष्टिकोण, अन्धविश्वास, नियतिवाद आदि व्याप्त हैं, उन्हें देखते हुए भगतसिंह के ये दोनों लेख आज भी बहुत प्रासंगिक हैं। ये लेख हमें भारतीय मुक्तिसंघर्ष के इतिहास में क्रान्तिकारी आन्दोलन और भगतसिंह के बारे में नये सिरे से सोचने के लिए विवश तो करते ही हैं,
    क्रान्तिकारी वैज्ञानिक चिन्तन की विरासत को आगे बढ़ाने के लिए भी प्रेरित करते हैं।

    पृष्ठ 36   रु59

    59.00
  • आरंभिक भारतीय

    आरंभिक भारतीय

    350.00
    Add to cart Buy now

    आरंभिक भारतीय

    टोनी जोसेफ़

    हम भारतीय कौन हैं?
    हम कहाँ से आए थे?

    इन गहन सवालों के जवाबों को जानने के लिए पत्रकार टोनी जोसेफ़ 65,000 वर्ष अतीत में जाते हैं, जब आधुनिक मानवों या होमो सेपियन्स के एक समूह ने सबसे पहले अफ़्रीका से भारतीय उपमहाद्धीप तक का सफ़र तय किया था। हाल के डीएनए प्रमाणों का हवाला देते हुए वे भारत में आधुनिक मानवों के बड़े पैमाने पर हुए आगमन यानी ईरान से 7000 ईसा पूर्व और 3000 ईसा पूर्व के बीच कृषकों के आगमन तथा 2000 ईसा पूर्व और 1000 ईसा पूर्व के बीच मध्य एशियाई स्टेपी (घास के मैदान) से अन्य लोगों के साथ ही पशुपालकों के आगमन का भी पता लगाते हैं।
    आनुवांशिक विज्ञान और अन्य अनुसंधानों के परिणामों का उपयोग करते हुए जोसेफ़ जब हमारे इतिहास की परतों का ख़ुलासा करते हैं, तब उनका सामना भारत के इतिहास के कुछ सबसे विवादास्पद और असहज सवालों से होता है :

    • हड़प्पा के लोग कौन थे?
    • क्या आर्यों का भारत में वास्तव में आगमन हुआ था?
    • क्या उत्तर भारतीय आनुवांशिक रूप से दक्षिण भारतीयों से भिन्न हैं?

    यह एक बेहद महत्त्वपूर्ण पुस्तक है, जो प्रामाणिक और साहसी तरीक़े से आधुनिक भारत की वंशावली से जुड़ी चर्चाओं पर विराम लगाती है। यह पुस्तक न केवल हमें यह दिखाती है कि आधुनिक भारत की जनसंख्या के वर्तमान स्वरूप की रचना कैसे हुई, बल्कि इस बारे में भी निर्विवाद और महत्वपूर्ण सत्य का ख़ुलासा करती है कि हम कौन हैं।

    हम सब बाहर से आकर बसे हैं
    और हम सब मिश्रित जाति के हैं

    टोनी जोसेफ़
    बिज़नेसवर्ल्ड के पूर्व संपादक टोनी जोसेफ़ अनेक शीर्ष अख़बारों और पत्रिकाओं में कॉलम लिखते रहे हैं। उन्होंने हिंदुस्तान के प्रागितिहास पर भी अनेक प्रभावशाली लेख लिखे हैं।


    AWARDS Received for this book:

    • Best non-fiction books of the decade (2010-2019) – The Hindu.
    • Book of the Year Award (non-fiction), Tata Literature Live, 2019 – The Wire.
    • Shakti Bhatt First Book Prize 2019 – The Indian Express.
    • Atta Galatta Award for best Non-Fiction, 2019 – Deccan Herald.
    • One of the 10 Best New Prehistory Books To Read In 2020, as identified by Book Authority.

    पृष्ठ 226   रु350

    350.00
  • ब्रह्मांड के बड़े सवालों के संक्षिप्त जवाब

    ब्रह्मांड के बड़े सवालों के संक्षिप्त जवाब

    350.00
    Add to cart Buy now

    ब्रह्मांड के बड़े सवालों के संक्षिप्त जवाब

    स्टीफ़न हॉकिंग 

    दुनिया के प्रसिद्ध ब्रह्मांड विज्ञानी और अ ब्रीफ़ हिस्ट्री ऑफ़ टाइम के लेखक के ब्रह्मांड के सबसे बड़े प्रश्नों पर व्यक्त अंतिम विचार उनकी इस मरणोपरांत प्रकाशित पुस्तक में दिए गए हैं।

    ब्रह्मांड की उत्पत्ति कैसे हुई? क्या मानवता पृथ्वी पर अस्तित्व में रहेगी? क्या सौर मंडल से भी ज्यादा बौद्धिक जीवन कोई है? क्या आर्टिफ़िशल इंटेलिजेंस हमें नियंत्रित करेगा?

    अपने असाधारण करिअर में स्टीफन हॉकिंग ने ब्रह्मांड के प्रति हमारी समझ को और अधिक विस्तार दिया है तथा कई रहस्यों को उजागर किया है। लेकिन फिर भी ब्लैक होल्स, काल्पनिक समय और विभिन्न इतिहास-काल पर उनका सैद्धान्तिक कार्य उनकी सोच को अंतरिक्ष के गूढ़तम स्तर तक ले जाता है। हॉकिंग मानते थे कि पृथ्वी पर जो भी समस्याएं हैं, उनको हल करने में विज्ञान महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

    अब हम इन विनाशकारी बदलावों का सामना कर रहे हैं – जैसे पर्यावरण में बदलाव, परमाणु युद्ध की चुनौती और आर्टिफ़िशल सुपर इंटेलिजेंस का विकास। स्टीफ़न हॉकिंग सबसे अहम और मानवता के लिए अति महत्वपूर्ण मुद्दों पर अपनी बात कह रहे हैं।

    मानव के रूप में हम जो चुनौती अपने समक्ष पाते हैं और ये पृथ्वी किस दिशा में बढ़ रही है, उस बारे में लेखक के निजी विचार इस पुस्तक में दिए गए हैं।

    स्टीफ़न हॉकिंग एक उत्कृष्ट सैद्धांतिक भौतिकविद और दुनिया के सबसे महान विचारकों में से एक माने जाते थे। वे तीस वर्षों तक केम्ब्रिज यूनिवर्सिटी में गणित के प्रोफ़ेसर रहे और साथ ही वे दुनिया की बेस्टसेलर पुस्तक ‘अ ब्रीफ़ हिस्ट्री ऑफ़ टाइम’ के लेखक भी हैं।
    सामान्य पाठकों के लिए उनकी अन्य पुस्तकों में शामिल हैं ‘अ ब्रीफ़ हिस्ट्री ऑफ़ टाइम’, निबंध संकलन ‘ब्लैक होल्स एंड बेबी यूनिवर्सिस’, ‘द युनिवर्स इन अ नटशेल’, ‘द ग्रैंड डिज़ाइन’ और ‘ब्लैक होल्स : द बीबीसी राइथ लैक्चर्स’।

    उन्होंने अपनी बेटी लूसी हॉकिंग के साथ बच्चों की पुस्तकें भी लिखी हैं, जिनमें पहली पुस्तक थी ‘जॉर्जिस सीक्रेट की टु द यूनिवर्स’ । 14 मार्च 2018 को उनका देहांत हो गया।

    डिलीवरी पर नकद / ऑनलाइन पेमेंट  उपलब्ध
    पृष्ठ 212   रु350

    350.00
  • होमो डेयस - आने वाले कल का संक्षिप्त इतिहास

    होमो डेयस – आने वाले कल का संक्षिप्त इतिहास

    450.00
    Add to cart Buy now

    होमो डेयस – आने वाले कल का संक्षिप्त इतिहास

    युवाल नोआ हरारी

    बेस्टसेलिंग पुस्तक सेपियन्स: मन जाति का संक्षिप्त इतिहास के लेखक युवाल नोआ हरारी एक ऐसी दुनिया की कल्पना प्रस्तुत करते हैं जो बहुत ज़्यादा दूर नहीं है, और जिसमें हम सर्वथा नयी चुनौतियों का सामना करने वाले हैं।
    होमो डेयस उन परियोजनाओं, स्वप्नों और दुःस्वप्नो की पड़ताल करती है जो इक्कीसवीं सदी को आकार देने वाले हैं – मृत्यु पर विजय प्राप्त करने से लेकर कृत्रिम जीवन की रचना तक। यह किताब कुछ बुनियादी सवाल पूछती है: हम यहाँ से कहाँ जाएँगे? और हम अपनी ही विनाशकारी शक्तियों से इस नाज़ुक संसार की रक्षा कैसे करेंगे?

    सेपियन्स ने हमें बताया हम कहाँ से आये थे
    होमो डेयस हमें बताती है कि हम कहाँ जा रहे हैं

     

    डॉ. युवाल नोआ हरारी के पास ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय से इतिहास में पीएचडी है और अब वे हिब्रू विश्वविद्यालय में विश्व इतिहास के विशेषज्ञ हैं। सेपियन्स : मानव जाति का एक संक्षिप्त इतिहास ने विश्व भर से प्रशंसक हासिल किये हैं, इन में बिल गेट्स, बराक ओबामा और जर्विस कॉकर जैसे नाम शामिल हैं। इसे अब तक 50 से अधिक भाषाओं में प्रकाशित किया जा चुका है। यह संडे टाइम्स में नंबर एक बेस्टसेलर रही और पेपरबैक रूप में नौ महीने से अधिक के लिए शीर्ष दस में थी। ‘द गार्जियन’ द्वारा सेपियन्स को उत्कृष्ट, सबसे अधिक पढ़ने योग्य और इस सदी की सबसे महत्वपूर्ण किताब के रूप में वर्णित किया गया है।
    प्राफेसर हरारी नियमित रूप से अपनी किताबों और लेखों में खोजे गए विषयों पर दुनिया भर में व्याख्यान देते हैं। वे गार्जियन, फाइनेंशियल टाइम्स, द टाइम्स, नेचर पत्रिका और वॉल स्ट्रीट जर्नल जैसे समाचार पत्रों के नियमित रूप से लेख भी लिखते हैं। वह स्वैच्छिक आधार पर विभिन्न संगठनों और दर्शकों को अपना ज्ञान और समय भी प्रदान करते हैं।

    पृष्ठ 428   रु450

    450.00
  • कैसा गुरु? कैसी मुक्ति?

    कैसा गुरु? कैसी मुक्ति?

    60.00
    Add to cart Buy now

    कैसा गुरु? कैसी मुक्ति?

    राजा राम हंडियाया

    तर्कशील सोसायटी हरियाणा के प्रधान श्री राजा राम हंडियाया की प्रथम पुस्तक ‘ परमात्मा कब कहां और कैसे ?” की सफल प्राप्ति के बाद यह दूसरी पुस्तक ” कैसा गुरू? कैसी मुक्ति ” भी अंधविश्वासों तथा धर्म, गुरू व मोक्ष की पुरातन व गैरवैज्ञानिक धारणाओं को खत्म करने व नई चेतना लाने में एक कारगर हथियार साबित होगी ।

    –  मेघ राज मित्र

    प्रधान तर्कशील सोसायटी भारत

    Tarksheel / Tarkshil 

    रु 60

    60.00
  • लेकिन ये सच है

    लेकिन ये सच है

    100.00
    Add to cart Buy now

    लेकिन ये सच है

    राजा राम हंडिआया

    तर्कशील सोसायटी हरियाणा के संस्थापक श्री राजा राम हंडिआया किसी जान पहचान के मोहताज नहीं हैं | वह पहले भी दो पुस्तकें ‘ परमात्मा कब कहां और केसे ‘ और ‘कैसा गुरु कैसी मुक्ति ‘ पाठकों को भेंट कर चुकें हैं । यह पुस्तक ‘ लेकिन ये सच्च है ‘ उनकी तीसरी पुस्तक है । इस पुस्तक में उन्होंने अपने तर्कों से अंध विशवासों पर गहरा प्रहार किया है । उनकी पहली पुस्तकों की तरह यह पुस्तक भी लोगों को अपनी होनी के आप मालिक बनना सिखाएगी । इसके साथ ही यह लोगों की सोच वैज्ञानिक बनाएगी । पाठकों के सुझावों का हमें इंतजार रहेगा।

    – मेघ राज मित्र
    संस्थापक तर्कशील सोसायटी भारत

    Tarksheel / Tarkshil 

    रु 100

    100.00
  • इकिगाई

    इकिगाई

    350.00
    Add to cart Buy now

    इकिगाई

    लम्बे और खुशहाल जीवन
    का जापानी रहस्य
    हेक्टर गार्सिया और फ़्रान्सेस्क मिरालेस

    इकिगाई के बारे में अंतरराष्ट्रीय बेस्टसेलिंग गाइड से जानें
    दीर्घायु होने और खुशहाल जीवन जीने का जापानी रहस्य

    जापान के लोग विश्वास करते हैं कि इकिगाई हर एक के भीतर छिपा होता है – यह हर सुबह नींद से जागने की वजह होती है। प्रेरणा और सांत्वना देने वाली यह पुस्तक आपको अपना व्यक्तिगत इकिगाई खोजने में मदद के लिए जीवन में परिवर्तन लाने वाले साधन उपलब्ध कराएगी। यह आपको दिखलाएगी कि कैसे अनावश्यक भार को पीछे छोड़कर अपना उद्देश्य हासिल किया जाए, मित्रता को विकसित किया जाए और स्वंय को अपने जुनून के लिए समर्पित किया जाए।

     

    लेखक के बारे में

    हेक्टर गार्सिया जापान के नागरिक हैं, जहाँ कि वह एक दशक से अधिक समय से रह रहे हैं। वह स्पेन के भी नागरिक हैं, जहाँ कि उनका जन्म हुआ था। वह जापानी संस्कृति के बारे में कर्इ पुस्तकों के लेखक हैं जिनमें से दो पुस्तकें – अ गीक इन जापान और इकिगार्इ दुनिया की बेस्टसेलर्स में शुमार हैं। पूर्व में सॉफ़्टवेयर इंजीनियर रहे हेक्टर जापान में बसने से पहले स्विट्ज़रलैंड के सी र्इ आर एन में काम कर चुके हैं।

    फ़्रान्सेस्क मिरालेस बेहतर जीवन कैसे जिएँ विषय पर पुरस्कार प्राप्त अंतरराष्ट्रीय बेस्ट सेलर किताबों के लेखक हैं। साथ ही उन्होंने लव इन स्मॉल लेटर्स और वाबी-साबी उपन्यास भी लिखे हैं। हेक्टर गार्सिया के साथ उनका जापान के ओकिनावा में स्वागत किया गया, जहाँ के निवासी दुनिया की किसी भी अन्य जगह से ज़्यादा लम्बा जीवन जीते हैं। वहाँ उन्हें सौ भी अधिक ग्रामीणों से उनकी लंबी और ख़ुशहाल ज़िंदगी के दर्शन के बारे में साक्षात्कार करने का मौक़ा मिला।

    Ikkigai / Ikigayi

    डीलक्स हार्ड बाउंड एडिशन
    पृष्ठ 194   रु350

    350.00
  • रिच डैड पुअर डैड

    रिच डैड पुअर डैड

    399.00
    Add to cart Buy now

    रिच डैड पुअर डैड

    रोबर्ट टी कियोसाकि

    रॉबर्ट कियोसाकी का ‘रिच डैड पुअर डैड’ अब तक की व्यक्तिगत  # 1 वित्तीय पुस्तक बन गया है, जिसका दर्जनों भाषाओं में अनुवाद किया गया और दुनिया भर में बेचा गया।

    ‘सबसे ज्यादा बिकने वाली किताब’

    यह बेस्टसेलिंग पुस्तक सरल भाषा में सिखाती है कि पैसे की सच्चाई क्या है और अमीर कैसे बना जाता है। लेखक के अनुसार दौलतमंद बनने की असली कुंजी नौकरी करना नहीं है, बल्‍कि व्यवसाय या निवेश करना है।

    रॉबर्ट कियोसाकी अंतरराष्ट्रीय भगोड़ा बेस्टसेलर जिसने छह वर्षों से अधिक समय तक न्यूयॉर्क टाइम्स की बेस्टसेलर सूची में शीर्ष स्थान हासिल किया है – एक निवेशक, उद्यमी और शिक्षक हैं, जिनके पैसे और निवेश के दृष्टिकोण चेहरे पर उड़ते हैं।

    डिलीवरी पर नकद / ऑनलाइन पेमेंट  उपलब्ध
    पृष्ठ 215   रु399

    399.00
  • संवाद का जादू

    संवाद का जादू

    199.00
    Add to cart Buy now

    संवाद का जादू

    टेरी फ़ेल्बर

    दुनिया के महानतम संवाद विशेषज्ञों की सफलता के रहस्य उजागर करने वाली इस किताब में सार्थक बातचीत करने के नुस्खे दिए गए हैं। साथ ही ऐसी दस अनिवार्य योग्यताएँ हासिल करने के तरीके बताए गए हैं, जो सफल संवाद के लिए जरूरी हैं।

    SAMVAD KA JADOO

    पृष्ठ 143   रु199

    199.00
  • भारत का संविधान - हिंदी और अंग्रेजी संस्करण

    भारत का संविधान – हिंदी और अंग्रेजी संस्करण

    999.00
    Add to cart Buy now

    भारत का संविधान – हिंदी और अंग्रेजी संस्करण

    भारत का संविधान – हिंदी और अंग्रेजी में

    भारत का संविधान अब हिंदी और अंग्रेजी में । अथवा 2020 के 104वें संशोधन तक के नए संशोधनों को भी शामिल किया गया है। यह उन हिंदी पाठकों के लिए प्रस्तुत किया गया हैं जो हमारे संविधान को अपनी मातृभाषा (हिन्दी अथवा अंग्रेजी)में पढ़ना पसंद करते हैं।

    अद्यतन संस्करण, 2020 दिसंबर तक

    Constitution of India In English and Hindi. Updated up to 104th amendments of 2020
    (Print Edition)

    Bharat Ka Samvidhan / Bharat Ka Sanvidhan

    पृष्ठ 824   रु999

    999.00